Bhojpuri

हिन्दी कै

सुर-ताल आ चाल बदल के ठाँव बतावें हिन्दी कै॥ सत्तर सांतर बत्तीस बेंवत भाव बतावें हिन्दी कै ॥   जे जे जान लगवलस एहमे सभके मान जगवलस एहमे ओकरै छाती दाल दरै के दाँव बतावें हिन्दी कै ॥   सबके माल मलाई आपन मीटिंग सिटिंग संगे ज्ञापन लोक राग भाषा बोली कै नाँव बतावें हिन्दी […]

हम टीचर हईं

लोग हमरा के धरती पर बोझा कहेला अब त अति हो गइल भाई अन्हें ना मुँहवे के सोंझा कहेला तबो हम कहत बानी मथमहोर ना हईं हमरो आपन पहचान बा कवनो चोर ना हईं। हमार इतिहास बहुत पुरान बा हमरे कारण अर्जुन, कर्ण, एकलव्य, चन्द्रगुप्त, अशोक आदि के पहचान बा जी भाई हम टीचर हईं […]

Bhojpuri Award

23 मार्च को होगा भोजपुरी साहित्यकारों का सम्मान

दिल्ली। भाषा, साहित्य, कला और संस्कृति के संरक्षण-संवर्द्धन के लिए कार्य करने वाली संस्था ‘सर्व भाषा ट्रस्ट’ नए साहित्यकारों को प्रोत्साहित करने के लिए अनेक भाषाओं के साहित्यकारों को ‘प्रथम प्रकाशित पुस्तक प्रोत्साहन’ के अंतर्गत सम्मानित कर रही है। ट्रस्ट द्वारा अब तक हिंदी के लिए ‘सूर्यकांत त्रिपाठी निराला साहित्य सम्मान 2018’ और डोगरी के […]

विनम्र श्रद्धांजलि : अनुभूति शांडिल्य ‘तिस्ता’

स्मृति शेष : अनुभूति शांडिल्य ‘तिस्ता’ अइसना समय में जब भोजपुरी मतलब अश्लीलता के धारणा बन गइल होखे आ एकरा के आधार बना के भोजपुरी लोककला के नकार देवे के साजिश हो रहल होखे, ओइसना में अनुभूति शांडिल्य के पारंपरिक व्यासशैली में वीर कुँअर सिंह के लोकगाथा के प्रस्तुति सुखद ‘अनुभूति’ के प्रतीक बन गइल […]